तुम बहुत पसंद हो मुझे वजह मत पूछना मालूम नहीं मुझे

अंदाजा मेरी मोहब्बत का सब लगा लेते है जब तुम्हारा नाम सुन कर हम मुस्कुरा देते है…

मैं अपनी कहानियों में तेरी वजूद ढूँढता हूं तेरी हिस्से के आसमान में अपनी जमीन ढूँढता हूं!

कितना “PYAR” है तुमसे ये कहा नहीं जाता बस इतना जान लो के तुम्हारे बिना एक पल भी रहा नहीं जाता!

तेरे प्यार का कितना खूबसूरत एहसास है दूर होकर भी लगता है जैसे तू हर पल मेरे आसपास है!

गुलाब जैसी हो बिल्कुल गुलाब लगती हो, ज़रा सा मुस्कुरा दो तो लाजवाब लगती हो..!

छोटी सी लिस्ट है मेरी ख्वाहिश की पहले भी तुम और आखिर भी तुम!

मंजिल तो एक होगी लेकिन हर कदम पर तेरा नाम होगा तलाश खत्म हो जाएगी मेरी जब तेरे लबों पर मेरा नाम होगा!

तू ही सादगी तू ही मुस्कान है, जी चाहता है बस यही कहता रहूं तू ही मेरी तमन्ना तू ही मेरी प्यार हैं!

कौन कहता है की पास में रहने पर ही प्यार होता है हम तो तेरे ख्याल से ही मुस्कुरा जाते हैं.