कुछ तो बात है मेरे देश की मिट्टी में साहेब, सरहदें कूद के आते हैं यहाँ दफ़न होने के लिए

आर्मी तो है देश की शान, जिन्दादिली है जिसकी पहचान

भारत की फ़जाओं को सदा याद रहूँगा, आज़ाद था, आज़ाद हूँ, आज़ाद रहूँगा

वो ज़िन्दगी ही क्या जिसमे देशभक्ति ना हो। और वो मौत ही क्या जो तिरंगे में ना लिपटी हो

जिक्र अगर हीरो का होगा, तो नाम हिंदुस्तान के वीरों का होगा

देश भक्तों के बलिदान से स्वतंत्र हुए हैं हम, कोई पूछे कौन हो तो गर्व से कहेंगे भारतीय हैं हम

दे सलामी इस तिरंगे को जिस से तेरी शान हैं, सर हमेशा ऊँचा रखना इसका.. जब तक दिल में जान हैं।

इश्क़ तो करता हैं हर कोई मेहबूब पे मरता हैं हर कोई, कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो तुझ पे मरेगा हर कोई…

ना पूछो ज़माने को, क्या हमारी कहानी हैं हमारी पहचान तो सिर्फ ये हैं की हम सिर्फ हिंदुस्तानी हैं

सदा ही लहराता रहे ये तिरंगा हमारा सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा

गूंज उठता हैं जहां में चारो ओर….. लोगो की जुबान से वन्दे मातरम का नारा

इस देश के वासी बखूबी ये जानते हैं की सोने की चिड़िया कहलाता प्यारा देश हमारा..