नवरात्रि में मां दुर्गा को पूजा में न करे ये चीज,  माँ होंगी नाराज 

– नवरात्रि में शुद्धता का खास ख्याल रखें. तन और मन दोनों की शुद्धता बहुत जरूरी है. नौ दिनों घर में गंदगी न होने दें. रोजाना स्नान के बाद साफ धुले वस्त्र ही धारण करें. किसी के लिए बुरे विचार मन में न लाएं.

– देवी को प्रसन्न करने के लिए मंत्र जाप बहुत सरल पूजा है, लेकिन सिर्फ अपनी ही माला से जाप करें. मंत्र जाप के लिए मंत्रों का उच्चारण जोर से बोलकर न करें. मन ही मन जपें.

– जिन घरों में घटस्थापना और अखंड ज्योति जलती है या जो लोग व्रत रखते हैं वह 9 दिन तक शारीरिक संबंध न बनाएं. ब्रह्मचर्य का पालन जरूर करें, नहीं तो पूजा का फल नहीं मिलेगा.

– नवरात्रि में जितने दिन व्रत का संकल्प लें उसे पूर्ण करें. अन्यथा संकल्प न लें. पहले दिन, अष्टमी और नवमी का व्रत करने से भी पूजा का फल मिलता है.

– घर में 9 दिन तक सात्विक भोजन ही बनाएं. फलाहार भी एक समय ही करें. मांस, मदिरा का सेवन वर्जित हैं. ऐसा करने पर देवी का प्रकोप झेलना पड़ सकता है.

– वैसे तो महिलाओं का अपमान कभी नहीं करना चाहिए लेकिन विशेषकर नवरात्रि में स्त्रियों और कन्याओं को अपशब्द न कहें. ना ही उनसे गलत व्यवहार करें. ऐसा करने पर देवी नाराज हो जाती हैं.